खाटू मेले में इन बातों का रखें ध्यान - Khatu Shyam Lakkhi Mela Important Points

खाटू मेले में इन बातों का रखें ध्यान - Khatu Shyam Lakkhi Mela Important Points, इसमें खाटू मेले के समय की महत्वपूर्ण सूचनाओं की जानकारी दी गई है।

Khatu Shyam Lakkhi Mela Important Points

बाबा श्याम का लक्खी मेला 22 फरवरी से शुरू होने जा रहा है जिसकी तैयारियाँ जोर शोर से जारी है। मंदिर में दर्शन, जिला प्रशासन की गाइडलाइन के अनुसार होंगे।

इस बार मंदिर की सजावट में नई थीम का उपयोग किया जाएगा। बाबा के दरबार को स्वचालित लाइट्स से सजाया जाएगा। मुख्य द्वार पर 65 फीट ऊँचे इलेक्ट्रिक बोर्ड पर रंगीन लाइट्स से तीन बाण युक्त धनुष की आकृति बनाई जाएगी।

मंदिर परिसर में 200 से ज्यादा खंभों पर भजनों के साथ बाबा के जयकारे गूँजेंगे। इन खंभों से मधुर स्वर लहरियाँ भी निकलेगी जिनको सुनकर भक्तजन मंत्रमुग्ध हो जाएंगे।

खाटू लक्खी मेले में ये हुए हैं महत्वपूर्ण बदलाव, Important changes in Khatu Lakhi fair


लक्खी मेले में भंडारे लगाने की अनुमति मेला मजिस्ट्रेट कार्यालय से जारी होगी। साथ ही मेले में अधिकारियों, कर्मचारियों के साथ व्यवस्था संभालने वाले व्यक्तियों के ड्यूटी मेला पास भी मेला मजिस्ट्रेट कार्यालय से जारी होंगे। मंदिर कमेटी अपने लेवल पर कोई पास जारी नहीं करेगी।

मंदिर मे दर्शनों के लिए वीआईपी व्यवस्था खत्म हो चुकी है। श्रद्धालु इस बात का ध्यान रखें कि मंदिर में दर्शन बड़ी आसानी से हो रहे हैं इसलिए किसी भी प्रकार के वीआईपी दर्शनों के चक्कर में नहीं पड़ें।

नई दर्शन व्यवस्था के अनुसार, अब दर्शनों के लिए आने वाले भक्तों के लिए जिग-जैग को हटाकर 14 लंबी लाइन बनाई गई है। इनमें चार लाइन पुराने रास्तों से और बाकी 10 लाइन, नए रास्तों से सीधा मंदिर में प्रवेश करेगी।

इसके साथ ही ढाई फीट का स्लोप होने की वजह से श्रद्धालुओं को चलते हुए भी दर्शन होंगे। मंदिर के गर्भगृह के दरवाजे पर एक पारदर्शी शीशा लगाया गया है। श्रद्धालुओं को अब इस शीशे के बाहर से बाबा के दर्शन करने होंगे।

मंदिर चौक के बाहर कॉर्नर पर पूछताछ केंद्र बनाया गया है, जिससे श्रद्धालु मंदिर और दर्शनों के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ले पाएंगे। होटलों और धर्मशालाओं में रुकने वालों को भी प्रशासन की गाइड लाइन के हिसाब से ही भजन करने होंगे।

लक्खी मेले में डीजे पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी। भक्त लोग मंदिर तक निशान लेकर नहीं जा पाएंगे। इन्हें लखदातार मैदान के पास ही रखना होगा।

मेला क्षेत्र मे लगभग 500 मोबाईल टॉइलेट की व्यवस्था रहेगी। साथ ही रूट चार्ट के साइन बोर्ड भी लगाए जाएंगे। श्रद्धालुओं के लिए मेडिकल टीमों का गठन होगा और 24 घंटे मेडिकल स्टाफ उपलब्ध होगा।

22 फरवरी से शुरू होने जा रहे खाटू मेले की सुरक्षा व्यवस्था में लगभग 4000 पुलिसकर्मियों के साथ लगभग 1000 स्वयं सेवक और लगभग 1000 से ज्यादा प्राइवेट गार्ड लगेंगे।

साथ ही व्यवस्थाओं को सुचारु रखने के लिए ड्रोन कैमरों से पूरे मेले की निगरानी की जाएगी।

लेखक, Writer

रमेश शर्मा {एम फार्म, एमएससी (कंप्यूटर साइंस), पीजीडीसीए, एमए (इतिहास), सीएचएमएस}

सोशल मीडिया पर हमसे जुड़ें, Connect With Us on Social Media

हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
हमें फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर फॉलो करें
खाटू श्याम के दर्शन के लिए हमारा व्हाट्सएप चैनल फॉलो करें

डिस्क्लेमर,  Disclaimer

इस लेख में शैक्षिक उद्देश्य के लिए दी गई जानकारी विभिन्न ऑनलाइन एवं ऑफलाइन स्त्रोतों से ली गई है जिनकी सटीकता एवं विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। आलेख की जानकारी को पाठक महज सूचना के तहत ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

एक टिप्पणी भेजें

श्याम बाबा की कृपा पाने के लिए कमेन्ट बॉक्स में - जय श्री श्याम - लिखकर जयकारा जरूर लगाएँ और साथ में बाबा श्याम का चमत्कारी मंत्र - ॐ श्री श्याम देवाय नमः - जरूर बोले।

और नया पुराने